इनकी कौन सुने फरियाद

*कैसे लायेंगें बाहर से फंसे प्रवासियों को*


बाहर फंसे लोग अपने परिजनो को गुहार लगा रहे हैं कि उन्हें वहां से निकाल कर ले जाओ जिसके लिए लोग भागदौड़ करके पास बनवा रहे हैं और बाहर फंसे अपने परिवार के सदस्यों को लाया जा रहा है इस प्रक्रिया में क्वारटीन किये जाने का स्पष्ट नियम न पता होने से कईयों को परेशानी का सबब बन गया है एसा ही एक मामला नई बस्ती, खड़खड़ी क्षेत्र का है यहां रविन्द्र परमार(जोनी) नाम का ड्राइवर पंजाब से किसी व्यक्ति को लेने गया था बार्डर पर बकायदा उसकी र्स्क्रीनिंग आदि भी हुई थी 14 मई को वह सवारी लेकर लौटा था, अब उसे 5 दिन बाद होम क्वारटीन कर दिया गया है वह इस प्रश्न उठाते हुए कहता है कि यदि प्रशासन को संक्रमण का कोई शक था तो उसे उसी समय बताना चाहिए था दूसरे अगर ड्राइवरों को इस प्रकार 14 दिन के लिए क्वारटीन किया जायेगा तो कोई किसी को लेने कयों जायेगा? ड्राइवरों पर तो वैसे ही रोजी रोटी कमाने कासंकट है ऊपर से क्वारटीन कर दिया जाना। उसके अनुसार इसमें भी पक्षपात हो रहा है 


Popular posts
कांवड़ मेले के चलते हेमंती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय की हरिद्वार जिले की परीक्षाएं स्थगित
Image
अम्बरीष कुमार विचार मंच ने भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर भारत बंद का देवपुरा चोराहा पर प्रर्दशन कर समर्थन किया ।
Image
एम्स ऋषिकेश में मिले 07 कोरोना संक्रमित, 01 हरिद्वार का भी, देखें विवरण
Image
महानगर व्यापार मंडल ने भूमिगत विद्युत लाईन कार्यो में अनियमितताओं की जांच के लिए महामहिम राज्यपाल से की मांग।
Image
 महाकुम्भ पर्व के अवसर पर एस एम जे एन महाविद्यालय में भजन संध्या का आयोजन  काॅलेज के पूर्व छात्रों ने किया श्री महन्त रविन्द्र पुरी महाराज का अभिनन्दन एवं सम्मान
Image